16 जनवरी 2016 को श्री नरेंद्र मोदी, भारत के माननीय प्रधानमंत्री द्वारा लॉन्च किया गया स्टार्टअप इंडिया भारत सरकार की एक प्रमुख पहल है। इसका उद्देश्य देश में नवाचार और स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए एक मजबूत पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण करना है जो सतत आर्थिक विकास को बढ़ावा देगा और बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर पैदा करेगा। सरकार की यह पहल भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) को अपने स्वयं के कार्यों में नवाचार को आगे बढ़ाने के लिए देश में स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र का लाभ उठाने का अवसर प्रदान करती है जिससे अधिक कुशल हवाईअड्डे और बेहतर यात्री अनुभव प्राप्त होता है।

इसे सुविधाजनक बनाने के लिए, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने जनवरी 2019 में अपनी स्टार्टअप नीति शुरू की। स्टार्टअप नीति,  स्टार्टअप्स को, हवाईअड्डा प्रासंगिक नवाचारों को अनुकूलित और विकसित करने के साथ-साथ देश के सभी हवाईअड्डों पर उनका प्रायोगिक परीक्षण करने की दिशा में, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के साथ काम करने का एक उत्कृष्ट अवसर प्रदान करती है। ।

संभावित स्टार्टअप संगठनों को शॉर्टलिस्ट करने के लिए, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने स्टार्टअप नीति के तहत एएआई स्टार्टअप पहल "एयरपोर्ट्स के लिए इनोवेट" कार्यक्रम शुरू किया। स्टार्टअप्स को शॉर्टलिस्ट करने के लिए दो स्तरीय मूल्यांकन किया गया और भाविप्रा  स्टार्टअप कॉन्क्लेव के दौरान उन्हें सहमति पत्र प्रदान किया गया। इनोवेट फॉर एयरपोर्ट्स प्रोग्राम के तहत प्रूफ ऑफ कॉन्सेप्ट (PoC) के संचालन के लिए चार स्टार्टअप्स को Idea2PoC अनुदान से सम्मानित किया गया है:

विवरण SatSure Analytics India (P) ltd. Inxee Systems (P) ltd. Ramphal Technologies (P) ltd. Blunav Technologies (P) ltd.
परियोजना का नाम वैमानिकी डेटा प्रबंधन मंच परियोजना “iNETRA” स्वदेशी स्मार्ट दृश्य डॉकिंग मार्गदर्शन प्रणाली (S-VDGS) SWAAIM: हाइब्रिड संदेश स्विचिंग सिस्टम ‘WAVEX” एयरसाइड मूवमेंट एवं अनुपालन निगरानी प्रणाली (AMCOMS)
संबंधित निदेशालय एटीएम प्रचालन सीएनएस-ओ.एम. सीएनएस-पी