केशोद हवाई क्षेत्र 450 एकड़ भूमि में फैला हुआ है। यह जूनागढ़ के नवाब मोहब्बत खान द्वारा 1930 के दशक मे बनाया गया था, जो सौराष्ट्र क्षेत्र का पहला हवाई अड्डा है। इस हवाई अड्डे के निर्माण को आगे 1975 के वर्ष में बढ़ाया गया था। 

वाणिज्यिक यात्री उड़ानों ने यहां से अक्टूबर 2000 में परिचालन बंद कर दिया | 

बड़े बुनियादी ढांचे के उन्नयन के बाद, और 2021 में डीजीसीए लाइसेंस प्राप्त करने के बाद, यह हवाई अड्डा वाणिज्यिक यात्री उड़ानों के लिए फिर से तैयार है | 

 

पर्यटक स्थल