ना

  Important Notice : For latest update visit our New Website.New content shall be updated on new website. This site shall be discontinued shortly.
हवाई अड्डे की योजना

योजना भारतीय विमानपत्‍तन प्राधिकरण का अभिन्‍न अंग रही है। हवाईअड्डा पर लगभग सभी विभागीय प्रक्रियाएं, जैसे कि एयरपोर्ट संभाव्‍यता अध्‍ययन, यात्री टर्मिनलों, कार्गो टर्मिनलों, एयरक्राफ्ट हैंगर, ईंधन हाइड्रेंट सिस्‍टम के साथ विमान पार्किंग सिस्‍टम, रनवे, टैक्‍सीवे, विमान लाइटिंग सिस्‍टम, विद्युत आपूर्ति की व्‍यवस्‍था, रनवे एवं टैक्‍सीवे की लाइटिंग, संपर्क सड़क के लाइटिंग सिस्‍टम, वातानुकूलन की व्‍यवस्‍था, यात्री सूचना सिस्‍टम, बैगेज हैंडलिंग सिस्‍टम, कार पार्किंग सुविधा आदि की डिजाइन अपने यहां मौजूद कार्मिकों द्वारा संपन्‍न की गई हैं।

सिविल एवं विद्युत तथा एच वी ए सी इंजीनियरों, हवाईअड्डों प्रचालन विशेषज्ञों, विमान यातायात नियंत्रण आदि के साथ घनिष्‍ठ समन्‍वय में काम करने वाले 38 हवाईअड्डा वास्‍तुकारों से मिलकर हवाईअड्डा योजना प्रभाग बना है। भूमि प्रयोग योजना पर्यावरणीय पहलू आदि समेत हवाईअड्डा मास्‍टर प्‍लानिंग, हवाईअड्डा योजना प्रक्रिया का एक अभिन्‍न अंग है।

भारतीय विमानपत्‍तन प्राधिकरण का हवाईअड्डा योजना विभाग अपने यहां मौजूद कंप्‍यूटर एडेड डिजाइन (सीएडी) संकल्‍पना का उपयोग करता है।

कार्पोरेट योजना एवं प्रबंधन सेवाएं  

कार्पोरेट योजना एवं प्रबंधन सेवा विभाग मुख्‍य रूप से विमानों के मूवमेंट, अंतरराष्‍ट्रीय एवं घरेलू यात्रियों तथा हमारे हवाईअड्डा के माध्‍यम से कार्गो पारगमन के संबंध में डाटा/सूचना के संकलन; प्रयोक्‍ता संतुष्टि सर्वेक्षण के आयोजन; अवसंरचना के अभीष्‍ट उपयोग के लिए प्रणालियों को सरल एवं कारगर बनाने के लिए टर्मिनल की अभिनिर्धारित क्षमता के लिए अपेक्षित यात्रियों एवं कार्गो की प्रोसेसिंग समय एवं क्षेत्र का मूल्‍यांकन करने के लिए नियामक सर्वेक्षण के आयोजन; हवाईअड्डा ग्राउंड अवसंरचना के उपयोग एवं प्रबंधन की तकनीकों में नवीनतम रूझानों से परिचित रहने के लिए पूरे विश्‍व में नागर विमानन के क्षेत्र में प्रगति की स्‍कैनिंग में लगा हुआ है।

इस विभाग में स्‍थल पर सही सूचना संकलित करने के लिए प्रमुख हवाईअड्डों पर फील्‍ड प्रतिनिधियों के साथ सांख्यिकीविद एवं हवाईअड्डा प्रबंधन कार्यपालक शामिल हैं। नागर विमानन अवसंरचना उद्योग में तेजी से बदलते घटनाक्रमों से स्‍वयं को परिचित रखने के लिए विभाग द्वारा एयरलाइन प्रचालकों, वाणिज्‍य मंत्रालय, उद्योग मंत्रालय तथा नागर विमानन से संबद्ध अंतरराष्‍ट्रीय निकायों, अन्‍य हवाईअड्डा प्रचालन एजेंसियों आदि के साथ संपर्क स्‍थापित किया जाता है।    

  

 

आखिरी बार अपडेट करने की तारीख : 18 नवंबर, 2010